🤣अंधभक्त किसे कहते है ? गोबर भक्त किसे कहते हैं ? भक्त और अंधभक्त में अंतर andhbhakt kise kahate hain

 इन सब सारे सवालों का जवाब हम आपको इस आर्टिकल में पूरा का पूरा एक्सप्लेन करेंगे तो आप लोग इसे पूरा लास्ट तक देखते रहेगा और आपको यह पता चल जाएगा कि क्या हम अंधभक्त हैं या नहीं जो होगी कड़वी सच्चाई के साथ मैं बताऊंगा ।

Contents show

अंधभक्त किसे कहते है andhbhakt kise kahate hain

andhbhakt kise kahate hain  :– दोस्तों अंधभक्त किसे कहते हैं यह में संक्षिप्त शब्दों में कहूं तो  और अंधभक्ति दो अंध और दूसरा भक्त है अंध का मतलब होता है अंधकार अंधा और उसी जगह भक्त का मतलब होता है पूजा करना

अब मैं संपूर्ण शब्दों को मिलाकर कहो कि अंधभक्त किसे कहते हैं तो अंधा का मतलब अभी भी मैंने बताया कि अंधा और भक्त का मतलब कि पूजा करना यानी अंधकार रूप में विश्वास किसी के ऊपर कर लेना

अर्थात दूसरे शब्दों में कहूं अंधभक्त किसे कहते हैं तो यह किसी के दूसरे की बात को मान लेना किसी की दूसरे की बात को सुन लेना और दूसरे की बातों  से कार्य करना अपने अनुसार कुछ भी सोचना और समझना नहीं दूसरा व्यक्ति

जैसा कहें वैसा ही करना किसी को संस्कृत भाषा में अंधभक्त कहा जाता है

आज के समय में अंधभक्त कई ढेर सारे मिल जाएंगे हो सकता है वह किसी का भी अंधभक्त हो सकता है

जैसे कि हमारी गवर्नमेंट मोदी जी का और हो सकता है राहुल गांधी जी का यह तो ही राजनीतिक पार्टियां कि इन सब पार्टियों में अंधभक्त शब्द का बार बार प्रयोग किया जाता है लेकिन के अलावा कुछ धार्मिक जगहों पर अंधभक्ति दिखाया जाता है जिसे मैं आगे चलकर के पूरा विस्तार रूप से आपको बताऊंगा

लेकिन मैं आपको बता दूं कि अंधभक्त शब्द का प्रयोग राजनीतिक पार्टियों में बहुत ही ज्यादा होता है जबकि धार्मिक स्थानों पर अंधभक्ति शब्द का प्रयोग लगभग ना के बराबर होता है और मजे की बात है कि कुछ तो अंधभक्त ऐसे मिल जाते हैं जिन पर बहुत ही ज्यादा हंसी आती है

और ऐसा लगता है कि उनके पास कोई दिल और दिमाग नहीं है और वह अपनी सूझबूझ से कोई भी कार्य नहीं करते हैं और उनका लीडर जैसे का देता है वैसे मान लेते हैं या तो कह दिया जाए कि धार्मिक चीजों में कि उनके जो भी पुजारी होते हैं उन्हीं की सेम बातों को मान लिया जाता है

मेरा यहां मकसद किसी धर्म जाति विशेष या राजनीतिक पार्टियों को किसी भी प्रकार से गलत साबित नहीं करना लेकिन यह शब्द कुछ ऐसा ही है कि उन्हें अच्छी तरीके से ना बताया जाए तो शायद आपको समझ में नहीं आए

New Book 7300 Reasoning By Arun Sir PDF Download

इसलिए मैं पहले ही आपसे माफी मांगता हूं कि आपको किसी भी प्रकार से ठेस लगे या किसी भी प्रकार से प्रॉब्लम हो तो हमें माफ करिएगा

अंध भक्त शब्द का सबसे ज्यादा प्रयोग राजनीतिक पार्टी में होता है जैसे पार्टी के नेता का देते हैं उसी प्रकार पार्टी के लोग एकदम उनकी बातों में लीन हो जाते हैं और उन्हीं की बातों को मान लेते हैं और अपनी अंधभक्ति का लक्षण प्रदर्शित करने लगते हैं

इतना ही नहीं  कुछ अंध भक्त धार्मिक चीजों में भी होते हैं जैसे  ही उनके बाबा कुछ ज्ञान दे देते हैं वैसे ही अंधभक्त लोग उनकी संपूर्ण बातों को मान लेते हैं और उन्हीं की पूरी की पूरी मार्गदर्शन में चल पड़ते हैं

और अपने दिमाग से कुछ भी नहीं सोचते हैं कि यह बंदा क्या कह रहा है कि हमारे बाबा जी क्या कह रहे हैं और भक्ति में पूरी तरह लीन हो जाते हैं संपूर्ण बातों को मान लेते हैं

अंधभक्त कितने प्रकार के होते हैं ? Andh bhakt kitne prakar ke hote Hain 

Andh bhakt kitne prakar ke hote Hain
Andh bhakt kitne prakar ke hote Hain

Andh bhakt kitne prakar ke hote Hain :– दोस्तों अंधभक्त कई प्रकार के होते हैं लेकिन मैं कुछ प्रकार के लोगों को मैं यहां पर बता रहा हूं
1 . धर्म के अंधभक्त

2 . राजनीति के आधार परअंधभक्त

3 .मोदी के अंध भक्तों

4 . देश के नाम पर अंधभक्त

5 . किसी नेता के नाम पर अंधभक्त

6 . किसी राजनीतिक पार्टी के अंधभक्त

7 . जाति के नाम पर अंधभक्त

8 . केजरीवाल के अंधभक्त

9 . राहुल गांधी के अंधभक्त

10. अंध भक्तों के अंधभक्त

दोस्तों आप बताइए कि इन अंध भक्तों में से आप कौन से अंधभक्त हैं या तो आप इनमें से किसी भी प्रकार के अंधभक्त नहीं है

अंध भक्त किसे कहते हैं? andhbhakt in hindi

andhbhakt kise kahate hain :– दोस्तों में अंध भक्तों का मतलब बता दो कि आंखें बंद करके किसी के ऊपर विश्वास कर लेना और उन्हीं की बातों को मान लेना और उन्हीं के कहे हुए चीजों को करना इसी को अंधभक्ति कहा जाता है

इतना ही नहीं अंधभक्त हर क्षेत्र में पाए जाते हैं जैसे कि राजनीतिक क्षेत्र में और धार्मिक क्षेत्र में जो कि हमारे समाज को इन्हीं अंधभक्त गंदा करते हैं और हमारे समाज में एक कचड़े के समान व्यक्ति के रूप में होते हैं

अब तक आप इतना तो समझ ही गए होंगे कि एक अंधभक्त किसे कहते हैं और वह कैसे एक दूसरे पर विश्वास कर लेता है अब मैं बारी बारी से एक-एक स्टेप को आगे समझा लूंगा कि मोदी अंधभक्त कैसे होते हैं राहुल गांधी अंधभक्त कैसे होते हैं तमाम ढेर सारे सवालों के जवाब दूंगा लेकिन उसके पहले मैं अंध भक्तों के लक्षण को बता दु

अंधभक्त के लक्षण  Andhbhakt ke lakshan

Andhbhakt ke lakshan :– दोस्तों अंध भक्तों के लक्षण बहुत ढेर सारे होते हैं जिसमें से की कुछ प्रमुख लक्षणों को मैं यहां पर एक एक स्टेप करके बता रहा हूं और ध्यान से पढ़िए गा कहीं उसमें से आप भी तो नहीं एक अंधभक्त हैं

यदि होंगे तो उसे आप छोड़ दीजिएगा और आर्टिकल लिखने में मुझे बहुत हंसी आ रही है 🤣 कि शायद कुछ लोग आप भी उसमें से अंधभक्त होंगे

1 अंध भक्त किसी की भी बात नहीं मानता है
2 अंध भक्तों को जैसा बोल दिया जाता है वह वैसा ही करता है
3 अंधभक्त हमेशा अपनी चीजों को बढ़ावा देता रहता है जिस पार्टी में हुआ स्थित है वह यह नहीं सोचता क्या सही है क्या गलत है
4 अंध भक्तों का कहीं ना कहीं उस पार्टी से या उस धार्मिक चीजों से स्वार्थ का भाव जुड़ा होता है

Trick – उन देशों के नाम बताइए जो क्षेत्रफल में भारत से बड़े हैं in hindi

मोदी अंधभक्त कौन से होते हैं ? Modi andh bhakt kaun se hote Hain

Modi andh bhakt kaun se hote Hain :– आजकल काफी न्यूज़ समाचार मैं यह सब मिलता है कि वह व्यक्ति मोदी अंधभक्त है कि का मोदी अंधभक्त कैसे होते हैं और मोदी अंधभक्त कौन से लोग कहते हैं

जैसे मैं एग्जांपल की सहायता से आपको सरल शब्दों में समझाना चाहता हूं किसी व्यक्ति का नाम A है यह वाला व्यक्ति मोदी जी का समर्थन करता है और मोदी जी की ही गुण गाता है और हमेशा वाह मोदी जी की ही बात करता है

या तो कहें दूसरे शब्दों में कि मोदी जी जो भी कहते हैं वह हां में हां मिलाते रहते हैं और उनकी ही बातों को सुनता रहता है तो वही दूसरे पार्टी के लोग यह व्यक्ति को मोदी का अंध भक्त बोलने लगते हैं

हां यह बात सही है कि मोदी जी की हर बात को वह मानता है और वह भी सही कहते हैं तब पर भी मान लेता है गलत भी करते हैं तब पर भी मान लेता है वह किसी भी प्रकार से उनकी बातों को गलत नहीं साबित कर पाता है जिस कारण से वह एक तरफ से पूरी तरह से अंधभक्त बन चुका है

लेकिन दूसरे शब्दों में कहूं कि एक व्यक्ति B है वाह राहुल गांधी जी का सपोर्ट करता है और उन्हीं की बात को मानता है और उन्हीं की बात को सुनता है और दिन भर उन्हीं की बातों को कहता रहता है तो दूसरे पार्टी के लोग उस व्यक्ति को राहुल गांधी जी का अंधभक्त कहेंगे

तो आप किसके अंधभक्त हैं हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा या तो आप किसी के भी अंधभक्त नहीं है आप हमेशा सही बातों को सपोर्ट करते हैं और चाहे

जो भी गलत बोलता है उनके खिलाफ आप बोलते हैं तो भी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा

गोबर भक्त किसे कहते हैं gobar bhakt kise kahate hain

gobar bhakt kise kahate hain :– जो आदमी दिमाग से पैदल, बुद्धि से गदहा अउर अकल से बइल होता है उन्हें हम और हमारे समाज के लोग गोबर भक्त कहते हैं गोबर भक्त हमारे और आपके आसपास ही दिखेंगे क्योंकि वे लोग सिर्फ दूसरे की चाटुकारिता करते हैं और उनकी बढ़ाई में लगे रहते हैं

लेकिन वास्तविकता में वे वैसे नहीं होते हैं सिर्फ उनकी मुख पर ही उनकी बड़प्पन करते रहते हैं

लेकिन मैं आपको सीधे शब्दों में यह कहो कि गोबर भक्त कौन होते हैं गोबर भक्त किसे कहते हैं तो ऐसा मान लीजिए कि जो अंधभक्त होते हैं उन्हें को गोबर भक्त भी कहते हैं

अर्थात अंध भक्त और गोबर भक्तों में काफी ज्यादा समानता मिलती रहती हैं और यह लोग हमारे समाज में अपनी एक अलग ही पहचान बनाए रखे हैं यदि इसमें से यदि आप होंगे तो हमारी बातों का बुरा मत मानिएगा

राहुल अंधभक्त किसे कहते हैं ? Rahul Gandhi andhbhakt kise kahate Hain .

Rahul Gandhi andhbhakt kise kahate Hain :– दोस्तों आप कभी न कभी जरूर सुने होंगे राहुल गांधी अंधभक्त किसे कहते हैं तो इसका जवाब मैं देने वाला हूं लेकिन मैंने अभी पिछले सवालों में कुछ इसी तरह के जवाब मैंने दिए थे

andhbhakt kise kahate hain
andhbhakt kise kahate hain

उसी जवाब को मैं कुछ अपने शब्दों में दोहराने वाला हूं जैसे कि कोई व्यक्ति मोदी जी की बातों की हमेशा बड़प्पन करता है और उन्हीं की बातों को हमेशा मानता है या तो ऐसे कर दिया जाए कि जो लोग मोदी जी के पार्टी में हैं

मोदी जी की हमेशा बात मानते हैं भाजपा के समर्थक हैं तो वैसे लोगों को राहुल गांधी जो कि एक कांग्रेस के नेता है वह मोदी के अंध भक्त कहा करते हैं तो इसके पीछे आपकी क्या राय है

हमें जरूर कमेंट बॉक्स में बताइएगा कि क्या वे राहुल गांधी जी सही कहते हैं कि वे सब मोदी के अंध भक्त हैं और आप किस पार्टी से हैं और आप किस पार्टी के समर्थन करते हैं यह भी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा और हम ही उम्मीद करेंगे कि आपकी पार्टी विजय बने

केजरीवाल अंधभक्त किसे कहते हैं ? Kejriwal andhbhakt kise kahate Hain 

Kejriwal andhbhakt kise kahate Hain :– केजरीवाल के विषय में कौन नहीं जानता है केजरीवाल आम आदमी पार्टी के एक बहुमूल्य समर्थक हैं और यह दिल्ली के मुख्यमंत्री भी हैं अक्सर यह देखा गया है कि केजरीवाल और मोदी जी में हमेशा टक्कर का मुकाबला चलता रहता है

और सिर्फ दिल्ली की बात की जाए तो दिल्ली में केजरीवाल हमेशा विजई बने रहते हैं अर्थात हमेशा मोदी जी से जीत जाते हैं कहीं ना कहीं मोदी जी हमेशा केजरीवाल को हराने की कोशिश करते रहते हैं और केजरीवाल भी इस विषय में कम नहीं है

इसी के संबंध में केजरीवाल मोदी जी के कुछ समर्थकों को मोदी अंधभक्त कहते हैं अब वे कितना सही है कितना गलत है मैं इसके विषय में कुछ भी नहीं कहूंगा यह तो आप भी जानते होंगे लेकिन मैं इतना जरूर बताऊंगा की यह हर पार्टी की दशा है कि एक दूसरे को गलत साबित करना

 Indane gas online booking number karnataka

अंधभक्त का पिता किसे कहते हैं andhabhakt ka pita kise kahate hain

andhabhakt ka pita kise kahate hain :– आप भी ऐसे क्वेश्चंस को देख कर हंस रहे होंगे कि यह कैसा क्वेश्चन है लेकिन आज के समय में बहुत ढेर सारे लोग ऐसे क्वेश्चंस को हमेशा पूछा करते हैं कि अंधभक्त का पिता किसे कहते हैं तो मैंयह आपसे पूछो कि अंध भक्तों के पिता कौन हैं

तो आप जवाब क्या देंगे शायद आप कहेंगे कि मोदी जी या तो कुछ लोग बोलेंगे योगी जी या तो कुछ लोग बोलेंगे राहुल गांधी या तो कई लोग बोल देंगे कि केजरीवाल ऐसा कुछ भी नहीं है यह एक आपस में लोग बोलने लगे और यह सब धीरे-धीरे करके प्रचलित हो गया इसके पिता कोई नहीं है

और ऐसे क्वेश्चंस को हमेशा छोड़ देना चाहिए क्योंकि ऐसी क्वेश्चन को लेकर हमेशा आपस में मतभेद झगड़ा के अलावा कुछ भी नहीं आएगा

अंधभक्तों की परिभाषा । अंधभक्त की परिभाषा क्या है ? Andhbhakt ki paribhasha kya hoti hai .

Andhbhakt ki paribhasha kya hoti hai :– दोस्तों जब भी आप कभी इंटरनेट पर सर्च करेंगे कि अंध भक्तों की परिभाषा या तो अंध भक्तों की परिभाषा किया है तो आपको कई अजीबो गरीब क्वेशंस के आंसर मिल जाएंगे लेकिन मैं भी इसी शब्द को सर्च किया

तो मुझे कुछ इस प्रकार से आंसर मिले के अंधभक्त वैसे भक्त हैं जिनके पास हाथ होते हैं पैर होते हैं चलते हैं फिरते हैं यानी वह देखने में तो इंसानों की तरह दिखते हैं लेकिन वह एक अंधभक्त होते हैं या पढ़ कर मुझे बहुत ज्यादा हंसी आई

इतना ही नहीं यहां तक यह भी लिखा गया था कि अंधभक्त हमेशा अपने भक्ति में लीन रहते हैं किसी दूसरे की बातों को नहीं सुनते हैं सिर्फ उनको जो बता दिया जाता है जिसकी भक्ति करते हैं वह जो बता देते हैं हमेशा उन्हीं की बातों को गुणगान करते रहते हैं

जैसे कि एक कुत्ते की आदत होती है सिर्फ भो भो भो करना सेम उसी प्रकार से अंधभक्त भी किसी दूसरे व्यक्ति को लेकर के हमेशा लड़ते झगड़ते रहते हैं अर्थात दूसरे शब्दों में या भी कहा जा सकता है कि अंधभक्त और कुत्ते में कुछ भी फर्क नहीं होता है जिस प्रकार से कुत्ता करता है उसी प्रकार से अंधभक्त भी अपने आप को प्रदर्शित करते हैं

गूगल अंधभक्त किसे कहते हैं ? Google Andhbhakt  kise kahate Hain .

Google Andhbhakt  kise kahate Hain.:– अपने घरों परिवारों में कुछ लोगों को ऐसे भी सुना होगा कि बात बात में यह कहते हैं कि गूगल पर सर्च करो गूगल पर देखो यह चीज है कि नहीं यानी हद से भी ज्यादा गूगल की सहायता लेते हैं

और हमेशा कुछ भी गूगल से पूछते हैं कि गूगल मेरा नाम क्या है गूगल मेरा नाम बताओ गूगल मैं कहां रहता हूं यही तमाम प्रकार के क्वेश्चन पूछते हैं जिससे मैं पढ़ता हूं गूगल पर आ कर के तो मुझे बहुत ज्यादा हंसी आती है

कि कुछ लोग ऐसे भी क्वेश्चन करते हैं कि क्या बताऊं मैं उन्हीं को गूगल अंधभक्त कहा जाता है अब मैं सच बताऊं तो कि आप भी गूगल अंधभक्त हैं क्योंकि आपने भी गूगल पर कहीं न कहीं यह सर्च करके आया होगा कि मोदी अंधभक्त कौन है या अंधभक्त किसे कहते हैं या गूगल अंधभक्त कौन है

तो कहीं न कहीं इस बात को लेकर के आप भी एक गूगल अंध भक्तों की में तो आ ही जाएंगे हमारी बातों का बुरा ना मानिए का लेकिन सच्चाई यही है

अंधभक्त कैसे पैदा होते हैं ? Andh bhakt paida kaise hote Hain .

Andh bhakt paida kaise hote Hain :– आइए हम आपको बताते हैं कि अंधभक्त पैदा कैसे होते हैं या एक विचित्र कहानी और यह एक विचित्र घटना है जिसे आप सुनकर के आश्चर्यचकित हो जाएंगे कि

अंधभक्त पैदा कैसे होते हैं और इनके पिता कौन है और उनके माता कौन हैं और वे लोग इतने ज्यादा अंध भक्ति में लीन हो जाते हैं कि एक दूसरे को भी भूल जाते हैं और अंधभक्ति में अपने नेता का गुणगान करने लगते हैं

सबसे पहले जनता को अंधभक्त बनाना है तो उनके सामने बड़ी-बड़ी बातों को बताना और हमेशा जनता की भलाई के बारे में बातें करना भले ही वास्तविकता में भी वैसा ना करें लेकिन भी जनता को बहला-फुसलाकर के अपनी बातों को सिर्फ मनाना और अपनी ही बात को का  कहवाना

भोली भाली जनता में से कुछ ऐसे लोग हो जाते हैं जो कि हर बात को मानने के लिए तैयार हो जाते हैं धीरे-धीरे वे उनकी भक्ति में लीन हो जाते हैं और इतना तक कि वे कुछ भी बोलते हैं तब पर भी वे उनकी बातों को मानने के लिए तैयार हो जाते हैं

इसी प्रकार से धीरे-धीरे अंधभक्त जन्म लेते हैं और एक समय में भी अपना विकराल रूप धारण कर लेते हैं जो कि हमारे समाज के लिए बहुत ज्यादा खतरे साबित हो सकते हैं और समाज में कहीं न कहीं ऐसे लोग गंदगी मचाते रहते हैं तो आप ऐसे अंध भक्तों से आप दूरी रहिए तो ही ज्यादा बेहतर रहेगा

भक्त और अंधभक्त में अंतर क्या होता है ? Bhakt aur andhbhakt mein kya Antar hota hai 

Bhakt aur andhbhakt mein kya Antar hota hai :– दोस्त आपके मन में कभी ना कभी एक  सवाल जरूर आया होगा कि भक्त और अंधभक्त में क्या अंतर होता है तो दोस्तों आपको घबराने की जरा भी जरूरत नहीं है इस क्वेश्चन का आंसर बहुत ही ज्यादा सटीक और बहुत ही ज्यादा सरल शब्दों में बताऊंगा

तो दोस्तों कुछ ऐसी बात है कि भक्त और अंधभक्त एक दूसरे से बहुत ज्यादा भिन्न होते हैं बहुत ही ज्यादा अलग होते हैं लेकिन कहीं ना कहीं कुछ शब्दों का फेर होता है अंध भक्त और भक्तों में तो सिंपल शब्दों में मैं कहूं कि अंधभक्त होते कौन हैं

अंधभक्त वे लोग होते हैं जो दूसरों की सिर्फ बातों को सुनना और उन्हीं की बातों को हमेशा गुणगान करते रहना अपनी बातों को या किसी दूसरे की बातों को सुनते नहीं हैं और ना ही समझते हैं सिर्फ हुए अपने नेता की बात को सुनते हैं

और उन्हें कि हम सा जय जय कार लगाते हैं चाहे वह व्यक्ति गलत कराओ चाहे वह व्यक्ति सही कराओ वह कुछ भी अपने मन से डिसीजन नहीं लेते हैं या तो अंध भक्तों को ऐसे कहा जाए कि

जैसे मालिक होता है अपने कुत्ते को भोंकने के लिए करता है तो कुत्ता भोकने लगता है उसी प्रकार से जो भी नेता होता है अपने पार्टी या अपने अंध भक्तों को जो भी कुछ कह देता है

इन्हीं बातों को वह बार-बार दोहराता रहता है और उन्हें की बातों को कहता रहता है उससे अंधभक्त कहा जाता है जबकि ऐसे लोग होते हैं जो दूसरों की बातों को मानते हैं दूसरों की बातों को सुनते हैं और दूसरे की बातों को करते भी हैं

लेकिन उनकी बातों को सोच समझ लेने के पश्चात कि बंदा अगला सही कह रहा है कि नहीं क्या वह कहीं गलत तो कह नहीं रहा है या तो सही और गलत का डिसीजन ले लेता है तभी हुए ऐसे कार्य को करता है

तो सिंपल शब्दों में मैं आपको बता दूं कि अंधभक्त हमारे समाज को गंदा और अभद्र बनाते हैं जबकि ऐसे लोग होते हैं हमारे समाज को सरल शुद्ध और गंदगी रहित बनाते हैं

और हमारे समाज में भक्तों की आज के समय में कमी है तो मेरी आपसे रिक्वेस्ट है कि आप भक्त बनेगा लेकिन कभी भी अंधभक्त मत बनिए गा चाहे आप एक नेता का चाहे आप किसी भगवान का लेकिन बनेगा जिसका भी सच्चे दिल से सही डिसीजन लेकर के बनेगा

🤣अंधभक्त किसे कहते है ? गोबर भक्त किसे कहते हैं ? भक्त और अंधभक्त में अंतर andhbhakt kise kahate hain

अंधभक्ति किसे कहते हैं ? अंधभक्ति का अर्थ । Andhbhakt kise kahate Hain andhbhakt ka arth .

Andhbhakt kise kahate Hain andhbhakt ka arth :– दोस्तों में आपको अंधभक्त किसे कहते हैं ऊपर बता दिया है लेकिन मैं फिर से संगठित शब्दों में समझाना चाहता हूं कि अंधभक्त दो शब्दों से मिलकर बना होता है अंधा और भक्ति

अंध का मतलब होता है अंधा वही भक्ति का मतलब होता है पूजा करना या किसी की बातों को मान लेना सिंपल शब्दों में कहूं के अंधभक्त किसे कहते हैं तो यही होगा कि वह अंधकार रूप में किसी के दूसरों की बातों को मान लेते हैं

और वे अपने दिमाग से जरा भी सोचते समझते नहीं हैं ऐसे लोगों को ही हमारे समाज में अंधभक्त कहा जाता है और यही शायद अंधभक्त का एक अर्थ भी होगा की दूसरों की बातों को मान लेना सुन लेना बिना अपना दिमाग लगाए और बिना सोचे समझे

🤣अंधभक्त किसे कहते है ? गोबर भक्त किसे कहते हैं ? भक्त और अंधभक्त में अंतर andhbhakt kise kahate hain

क्या बीजेपी कार्यकर्ता अंधभक्त है। Andh Bhakt Kise Kahate Hain

kya beejepee kaaryakarta andhabhakt hai  :– दोस्तों आपके मन में कभी न कभी यह सवाल जरूर आया होगा कि क्या बीजेपी के कार्यकर्ता अंधभक्त है तो मैं साधारण शब्दों में यही कहूंगा कि ऐसा नहीं है मैंने अब तक अंध भक्तों की परिभाषा बहुत ही अच्छी तरह समझा दिया है

लेकिन मैं फिर से क्लियर कर देना चाहता हूं कि जो किसी की बिना सोचे समझे हर बात को मान ले और अपने दिमाग से कुछ भी न करें वैसे लोगों को अंधभक्त कहा जाता है तो आप ही समझ लीजिएगा कि क्या बीजेपी के कार्यकर्ता अंधभक्त हो सकते हैं

क्या वे लोग अपने दिमाग से कुछ भी नहीं सोचते हैं ना ही कुछ भी करते हैं ऐसा नहीं है यदि मैं यह कहूं कि राहुल गांधी के कार्यकर्ता अंधभक्त हैं तो भी ऐसा नहीं है फिर भी अपने मानसिक दिमाग को की सहायता से सब कुछ कार्य करते हैं लेकिन हमारे समाज में कुछ ऐसे लोग हैं जो कि अंध भक्तों का प्रदर्शन करते हैं तो उन्हें आप अच्छी तरह जानते हैं लेकिन सभी को कहना गलत बात है

मोदी जी को आदर्श मानने वालों लोगो को अंधभक्त क्यों कहते है।

modee jee ko aadarsh maanane vaalon log ko andhabhakt kyon kahate hai :– दोस्तों आज के इस समाज में किसी को भी कुछ कहा जा सकता है हर किसी को बोलने की आजादी है हर किसी को सुनने की आजादी है उसी में से कुछ लोगों ने यह मुहिम निकाला कि मोदी जी को आदर्श मानने वाले लोगों को अंधभक्त कहा जाए

क्योंकि वह लोग हमेशा मोदी जी की बात को मान लेते हैं मैं पहले क्लियर कर दूंगी मैं मोदी जी का कोई ना ही समर्थक हूं ना ही कुछ हूं और ना ही मैं कांग्रेस पार्टी थी का समर्थक हूं इस समय जो मैं आर्टिकल लिख रहा हूं मैं एक लेखक के तौर पर लिख रहा हूं मुझे यह लिखते हुए डर लग रहा है

कि कुछ लोग कहेंगे कि आप मोदी के समर्थक हैं मोदी जी की बातों को लिख रहे हैं तो कुछ लोग ऐसा भी कहेंगे कि आप कांग्रेस के समर्थक हैं मैं कुछ भी ऐसा नहीं हूं दोस्त लेकिन सिंपल भाषा में कहूं तो मोदी जी के समर्थक को मोदी जी का अंधभक्त इसलिए कहा जाता है

कि मोदी जी भी कुछ बातों को गलत कह देते हैं या कर देते हैं लेकिन कुछ ऐसे समर्थक होते हैं जो कि उनकी बातों को सही साबित करने में लगे रहते हैं और उन्हें कि हमेशा उस बात को भी लेकर के बड़प्पन करते रहते हैं तो हमारे समाज में ऐसे लोगों को मोदी जी का अंधभक्त कह देते हैं

अंधभक्त किसे कहते है ? गोबर भक्त किसे कहते हैं ? भक्त और अंधभक्त में अंतर andhbhakt kise kahate hain

निष्कर्ष 

दोस्तों अब तक आपके सभी सवालों के जवाब मिल चुके होंगे और जो कि मैं  कुछ ऐसे प्रश्नों का जवाब दियाअंधभक्त की परिभाषा क्या है ,अंधभक्त कौन होते हैं ,अंधभक्त क्या होता है,अंधभक्त का अर्थ ;गोबर भक्त किसे कहते हैं;अंधभक्त कैसे होते हैं,अंधभक्त कैसे पैदा होते हैं

इन सभी सवालों के जवाब देने के लिए मुझे कुछ इंटरनेट की सहायता लेनी पड़ी तथा कुछ अपने बुद्धि विवेक की सहायता लेनी पड़ी आपको यह आर्टिकल पढ़कर कैसा लगा हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा हम आपके 11 कमेंट का इंतजार करेंगे

हो सकता है कि कुछ दोस्तों को हमारी बातों से ठेस लगी हो तो मुझे माफ कर दीजिएगा आपका साथी आपका सहयोगी स्टडी नंबर वन तो चलिए दोस्तों फिर मिलेंगे आपसे किसी नेक्स्ट आर्टिकल में और हमारा या स्टडी नंबर वन ब्लॉक को याद कर लीजिएगा और हमेशा आपसे मुलाकात होती रहेंगी इसी लिखने के माध्यम से यदि आपका कोई भी सुझाव हो तो हमारी इस आर्टिकल में सुधार करने के लिए या किसी अन्य प्रकार की तो हमें कमेंट बॉक्स में वह भी जरूर बताएं

🤣अंधभक्त किसे कहते है ? गोबर भक्त किसे कहते हैं ? भक्त और अंधभक्त में अंतर andhbhakt kise kahate hain

दोस्तों आज के समय में अंधभक्ति अपने चरम सीमा पर है तो दोस्तों आप कभी भी अंधभक्त बनने का प्रयास मत करिएगा जो भी आपके हिसाब से सही है तो सही कहेगा गलत है तो गलत कहिए गा किसी के बहकावे में आकर के कभी भी अपने डिसीजन को मत बदलिए गा और हां मैंने इस पोस्ट में बताया कि कुछ लोग गोबर भक्त भी होते हैं तो समझ गया के अंधभक्त और गोबर भक्तों में कोई भी अंतर नहीं है

THANKS YOU

Leave a Comment